इश्क़ उकेड़ती कलम…

उससे मिला ऐ खुदा जिसकी मुझे खोज है.. मांगती है मुझे दुआओं में तुझसे जो रोज है... ***** वो जो है ना मुस्कुराती तस्वीर तुम्हारी क्या बताऊं कितनी हसीन लगती…

5 Comments

||* रिश्ते शायरी *||

रिस्ते कभी हँसाते हैतो कभी रुलाते हैं।मगर यही रिश्ते जिंदगी मेंरास्ते दिखा जाते है। कभी उंगली पकड़करचलना सिखाते हैं।तो कभी ठोकर मारकरसंभलना सिखाते है। कभी इनसे सत्कार मिलता हैतो कभी…

11 Comments